23 Oct 2017, 17:20:31 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us facebook twitter android
country

PM को खत, "सिंदूर लगाते हुए क्यों रोती है मेरी मां ?"

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

 नई दिल्ली: 1997 में एयरफोर्स ज्वाइन करने वाले फ्लाइट इंजीनियर संजय कुमार झा 2004 से लापता हैं। उनकी 12 साल की बेटी आद्या ने पीएम मोदी को पत्र लिखा है और कहा है कि मेरे अंकल और नानाजी ने कई अफसरों से पापा के बारे में जानने की कोशिश की लेकिन उनके बारे में कोई पता नहीं चला। इसके बाद मैंने लेटर लिखने का फैसला किया। दिल्ली के जनकपुरी स्थित सेंट्रल स्कूल में 7th क्लास की छात्रा आद्या बार-बार अपनी मां और दादी से पिता के बारे में जब पूछते-पूछते थक गई तो उसने प्रधानमंत्री मोदी के नाम पत्र लिखने की ठानी। क्योंकि उसे आशा है कि देश के प्रधानमंत्री उसकी बात जरूर सुनेंगे। आद्या की मां और संजय की पत्नी ममता कहती हैं​ कि 'हम उनका 12 साल से इंतजार कर रहे हैं। जब आद्या के पिता लापता हुए तो आद्या अपनी मां की कोख में थी। वो कहां हैं, उनका क्या हुआ, इसका कुछ पता नहीं।' ये भी बताती हैं, 'तमाम भागदौड़ के बाद 7,875 रु. की फैमिली पेंशन तो शुरू कर दी गई है। इसी में मुझे बेटी की पढ़ाई और घर खर्च मैनेज करना पड़ता है। एक बार जब आंसू भरी आंखों से आद्या की दादी से अपने पापा के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि आप चिंता मत करो, तुम्हारे पापा एक दिन जरूर लौट आएंगे। हमने 12 साल पहले सरकार से रिक्वेस्ट की थी कि उनके पति के लापता होने की सीबीआई जांच कराई जाए। उन्होंने कहा 'मेरी सरकार से अपील है कि मेरे पति का पता लगाए। हो सके तो मामले को सीबीआई को सौंपा जाए। आद्या ने प्रधानमंत्री मोदी से अपने पिता को ढूंढ लाने की गुहार लगाई है। आद्या लिखती हैं कि जैसे मेरी फ्रेंड रानी अपने पापा के साथ खेलती है, मैं भी अपने पापा के साथ खेलना चाहती हूं। मैं ये लेटर अपने अंकल को दूंगी, वो इसे आप तक पहुंचा देंगे। मासूमियत से भरे इस पत्र में आद्या ने लिखा है कि मोदी अंकल, मुझे नहीं पता कि जब मेरी मम्मी सिंदूर लगाती है तो उसकी आंखों में आंसू क्यों आ जाते हैं? मैंने कभी भी अपनी दादी को हंसते हुए नहीं देखा। दादाजी भी कहीं खोए-खोए रहते हैं।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »